सड़क दुर्घटनाओं में कमी के लिए युवाओं का सहयाग जरूरी : आरटीओ  ऊना

ऊना 13 फरवरी: राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा अभियान के तहत आज राजकीय महाविद्यालय ऊना में एक शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें आरटओ रमेश चन्द कटोच द्वारा सड़क सुरक्षा जीवन रक्षा ध्येय एवं सड़क सुरक्षा के लिए प्रति युवाओं का जागरुक किया। 

सड़क दुर्घटनाओं में कमी के लिए युवाओं का सहयाग जरूरी : आरटीओ  ऊना

आरटीओ ने युवाओं का आहवान करते हुए कहा कि वर्तमान में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए युवाओं के सहयोग की नितांत आवश्यकता है। शिक्षित युवा वर्ग को स्वयं ही नहीं, बल्कि अन्यों को भी यातायात नियमों की अनुपालना के लिए अपनी भागीदारी सुनिश्चित करने की आवश्यकता है। उन्होंने आवरस्पीड, ओवरटेकिंग तथा रैड लाइट जंपिंग जैसे सड़क नियमों पर गंभीरता दिखाते हुए एक आदत की तरह अपने जीवन में लाने की जरूरत है। परिवहन विभाग की ओर से प्रदीप कुमार द्वारा एक पीपीटी के माध्यम से युवाओं को सड़क नियमों बारे विस्तृत जानकारी दी गई तथा विद्यार्थियों को शपथ भी दिलाई गई। 

इस अवसर पर एआरटीओ राजेश कौशल ने कहा कि ड्राइविंग के दौरान मोबाइल प्रयोग, नशा करना, चेतावनी वाले सड़क संकेतों की अनदेखी करने की वजह से तीन चैथाई सड़क हादसे होते हैं। उन्होंने कहा कि ई परिवहन का इस्तेमाल कर धन और समय की बचत करें। उन्होंने युवाओं को मोटरवाहन अधिनियम 2019 के अन्तर्गत भारी भरकर जुर्माना राशि व न्यायायिक सजाओं से बचने का भी परामर्श दिया तथा हिमाचल को जीरो चालान बनाने के लिए युवाओं का आहवान किया। इसके उपरांत ऊना मैहतपुर हाइवे पर भी वाहनों को रोककर हैल्मेट व सीट बैल्ट के महत्व बारे बताया गया। 

आरटीओ रमेश कटोच ने मैहतपुर बैरियर में 250 वाहनों चालकों को रात को डिप्पर चलाने, हार्न का आवश्यकता पड़ने पर ही इस्तेमाल करने बारे बताया तथा ट्रक्टरो, भारी वाहनों, कारांे, बसों, टैक्सियों इत्यादि में लाल व पीले रिफलैक्टर टेप लगाने बारे बताया तथा 100 से अधिक वाहनों में मौके पर ही रिफलैक्टर टेप चिपकाए गए। 

–0–

सड़क दुर्घटनाओं में कमी के लिए युवाओं का सहयाग जरूरी : आरटीओ  ऊना
सड़क दुर्घटनाओं में कमी के लिए युवाओं का सहयाग जरूरी : आरटीओ  ऊना