Solan News: एटक का 19वां दो दिवसीय राज्यस्तरीय अधिवेशन सोलन दुर्गा भवन में शुरू

Solan News: एटक का 19वा दो दिवसीय राज्यस्तरीय अधिवेशन सोलन दुर्गा भवन में शुरू

-अधिवेशन शुरू होने से पहले हजारों एटक कायकर्ताओं ने सोलन बाईपास से रैली निकाल कर किया शक्ति प्रदर्शन
सोलन, 10 सितंबर |
Solan News: अखिल भारतीय ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एटक) का 19वां दो दिवसीय राज्य सम्मेलन सोलन के दुर्गा भवन मुरारी मार्किट में शुरू हुआ। जो सोमवार 5 बजे शाम तक चलेगा। इस दौरान मजदूरों की मांगों को पूरा न करने पर के केंद्र सरकार की जमकर आलोचना की गई। 32सरकारी व निजी क्षेत्र में बनी ट्रेड यूनियनों ने एक साथ मिलकर सोलन मालरोड पर रैली निकाली और श्रम कानूनों की सख्ती से पालना करवाने का आग्रह सरकार से किया गया।

एटक के प्रदेश अध्यक्ष जगदीश भारदाज ने मजदूरों को संबोधित करते हुए कहा कि राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक नीतियों के कारण देश के संविधान व लोकतंत्र को खतरा पैदा हो रहा है। बेरोजगारी और महंगाई लोगों पर कहर ढा रही हैं। इसके अलावा जातियों, समुदाय, हिन्दू मुस्लिम करके देश की एकता और अखंडता को चुनोती दी जा रही है, जो सही नही है। भारद्वाज ने कहा कि केंद्र सरकार ने पहले की कृषि क्षेत्र को तबाह करके अडानी और बड़े कारोबारियों को फायदा पहुँचाया है। मजदूरों के खिलाफ अभी तक बने 44 श्रम कानूनों को बदलकर 4 श्रम संहिताएं (लेबर कोड ) वेतन सम्बन्धी कोड, औधोगिक सम्बन्धों पर कोड, सामाजिक सुरक्षा कोड और व्यावसायिक, उपजीविका, कार्यक्षेत्र स्वास्थ्य सुरक्षा कोड यह कोड श्रम संहिताएं पूरी तरह उधोगपतियों और सरकार के पक्ष में है। जो देशी और विदेशी, पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाने के लिए है।

श्रम कानूनों की समाप्ति का विरोध
एटक अखिल भारतीय स्तर पर श्रम कानूनों की समाप्ति का विरोध पिछले 3 वर्षों से कर रहा है। केंद्र सरकार की इन नीतियों को रोकने व मजदूरों व कर्मचारी वर्ग को कुचलने के लिए बनाए गए 4 श्रम कानूनों को, जो पूरी तरह उधोनपतियों व पूंजीपतियों के पक्ष में है, इन आंदोलन का मुख्य मकसद है।

प्रदेश सरकार भी कर्मचारियों से बड़े बड़े वादे के सत्ता में आई है, लेकिन अभी तक पुरानी पेंशन के अलावा कोई भी वादा पूरा नहीं किया है। मजदूरों के न्यूनतम वेतन बढ़ाने की अधिसूचना जारी की गई है, वह निराशाजनक है। एटक महंगाई मूल्य सुंचकाक के अनुसार वेतन बढ़ाने के लिए सम्मेलन करेगी। उन्होंने बताया कि यह अधिवेशन दो दिन चलेगा। राज्यस्तरीय अधिवेशन में जो श्रम कानूनों के साथ फेरबदल किया जा रहा है, उस पर भी विशेष चर्चा होगी। मजदूरों पर जो अत्याचार आए दिन हो रहे हैं, उन पर भी सरकार को चेताया जाएगा।

इस अवसर पर एटक के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व हिमाचल एटक प्रभारी बन्तसिंह बराड़, एटक प्रदेशाध्यक्ष जगदीश चन्द्र भारद्वाज , एटक के कार्यकारणी प्रदेशाध्यक्ष एडवोकेट कामरेड शशि पंडित, सीटू के प्रदेशाध्यक्ष बिजेंद्र मेहरा , राज्य उपप्रधान कॉमरेड अतुल भारद्वाज, कॉमरेड देवकी नंदन चौहान राज्य महासचिव, करनैल सिंह , रोशन लाल डोगरा, अनूप पराशर , हेमराज, शूलिनी ऑटो रिक्शा ऑपरेटर यूनियन प्रधान धर्मपाल ठाकुर, सतीश शर्मा जिला अध्यक्ष एटक, नानक चंद शांडिल, लेखराज वर्मा, कामरेड भागसिंह हिमाचल प्रदेश सीपीआई सचिव, दलीप सिंह कंवर प्रधान टैक्सी यूनियन और अन्य दर्जनों एटक यूनियन के अध्यक्ष व कार्यकारिणी के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Kasauli Update: संत निरंकारी मिशन के शिविर में 132 श्रद्धालुओं ने किया रक्तदान

IND vs PAK Match Update: क्या रिजर्व डे में भी बारिश की भेंट चढ़ जाएगा भारत-पाकिस्तान मैच ?

Best RAM for Gaming: इन Gaming RAMs से होगी आपके गेमिंग PC की स्पीड तेज!