Satish Kaushik Death – अपने पीछे बेटी और पत्नी को छोड़ गए सतीश कौशिक, सिर्फ 11 साल की है वंशिका

सिर्फ 66 साल की उम्र में चल बसे मशहूर एक्टर और डायरेक्टर सतीश कौशिक । उनके निधन से परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। सतीश कौशिक अपने पीछे पत्नी शशि और बेटी वंशिका को छोड़ गए हैं। उनकी बेटी अभी सिर्फ 11 साल की है। आपको बता दें सतीश कौशिक के परिवार को रात के 2 बजे उनके निधन की जानकारी दी गई थी और उसके बाद से ही पत्नी और बेटी का रो- रोकर बुरा हाल है।

एक्टर के निजी ज़िंदगी कि बात करे तो ये काफ़ी उतार चढ़ाव भरी रही । साल 1985 में उन्होंने शशि कौशिक से शादी की थी। शादी के नौ साल बाद उन्हें एक बेटा हुआ था जो सिर्फ़ दो साल की उम्र में चल बसा था । उनके बेटे शानू कौशिक का निधन 1996 में ही हो गया। सतीश कौशिक को दर्द से उबरने में सालों बीत गए। बेटे के निधन ने उन्हें तोड़कर रख दिया था बहुत मुश्किल से उन्होंने ख़ुद को संभाला था। बेटे के निधन के 16 साल बाद उन्होंने फिर से पिता बनने का सोचा और सरोगेसी के ज़रिए साल 2012 में बेटी वंशिका का जन्म हुआ । बेटी के आने से उनकी जिंदगी में ख़ुशिया लौट आयी थीं लेकिन अब ख़ुद वो सिर्फ़ 11 साल की बेटी को छोड़ ऐसी दुनिया में चले गए जहाँ से कोई लौटकर नहीं आता । सतीश कौशिक अपनी बेटी से बहुत ज़्यादा प्यार करते थे और अक्सर सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीरें और वीडियो शेयर किया करते थे।

बता दें सतीश कौशिक को दिल का दौरा उस वक़्त पड़ा जब वह अपने परिवार से दिल्ली में थे। दिल्ली के बिजवासन की एक होली पार्टी में वो शामिल हुए थे और वहीं उनको दिल का दौरा पड़ा था। उन्हें फिर गुड़गांव के फोर्टिस हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन हॉस्पिटल पहुंचने से पहले ही उनका निधन हो चुका था।

सतीश कौशिक एक एक्टर और निर्देशक ही नहीं बल्कि प्रोड्यूसर, कॉमेडियन और स्क्रीन प्ले राइटर भी थे। 13 अप्रैल 1956 में हरियाणा के महेन्द्रगढ़ में सतीश कौशिक का जन्म हुआ था। दिल्ली के किरोड़ीमल कॉलेज से ग्रेजुएशन करने के बाद सतीश कौशिक ने नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन लिया था।
उन्हें अखबारों में अपना नाम छपवाने का इतना जुनून था कि इसी सपने क पूरा करते-करते वह फिल्मों में आ पहुंचे और वह एक्टर बन गए।1983 में आई जाने भी दो यारों फिल्म से उनके एक्टिंग करियर की शुरुआत हुई थी। सतीश कौशिक ने 100 से ज्यादा फिल्मों में काम किया।

वो नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा एंड फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के पूर्व छात्र थे और उन्होंने थिएटर में अपना करियर शुरू किया था। उन्होंने मिस्टर इंडिया, दीवाना मस्ताना, साजन चले ससुराल, जैसी कई फिल्मों में काम किया। सतीश कौशिक को पहचान मिली मिस्टर इंडिया के कैलेंडर रोल से।इसके बाद गोविन्दा के साथ
मुत्तु स्वामी, पप्पू पेजर जैसे किरदार निभाकर उन्होंने लोगों का दिल जीता उन्होंने रूप की रानी चोरों का राजा, प्रेम’ हम आपके दिल में रहते , बधाई हो और तेरे नाम जैसी फिल्मों का निर्देशन भी किया । साल 2004 में सलमान ख़ान का डूबता करियर उन्होंने ही फ़िल्म तेरे नाम से परवान चढ़ाया था।