Ganesh Chaturthi 2023: इस बार गणेश चतुर्थी पर 300 साल बाद बन रहे ये अद्भुत संयोग

ब्रह्म और शुक्ल योग में मनेगा गणेश उत्सव, जानिए गणेश उत्सव से जुडी विशेष जानकारी

Ganesh Chaturthi 2023 Shubh Yog: हर वर्ष भाद्रपद मास की शुक्‍ल पक्ष की चतुर्थी तिथि से जिसे गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi) या गणेश उत्‍सव की शुरुआत होती है। माना जाता है कि इसी चतुर्थी के दिन भगवान गणेश का जन्‍म हुआ था। गणपति के जन्‍मोत्‍सव का ये पर्व 10 दिनों तक चलता है। इस साल गणेश चतुर्थी 19 सितंबर को मनाया जाएगा और बप्पा के भक्त गणपति की प्रतिमा को घर में लाकर उनकी भक्ति भाव से पूजा करेंगे।

गणेश चतुर्थी पर बन रहे ये शुभ योग
इस साल गणेश चतुर्थी (Ganesh Chaturthi 2023 Shubh Yog) पर लगभग 300 साल बाद अद्भुत संयोग का निर्माण हो रहा है। इस बार गणेश चतुर्थी पर ब्रह्म योग और शुक्ल योग जैसे शुभ योग बन रहे हैं। पंचांग के अनुसार, भाद्रपद मास के शुक्ल की चतुर्थी से देशभर में गणेश चतुर्थी पर्व का शुभारंभ हो जाता है। यह पर्व मुख्य रूप से 10 दिनों तक चलता है। इस दौरान भक्त बप्पा को अपने घर लाते हैं और अनंत चतुर्दशी के दिन बप्पा को विदा कर देते हैं।

ज्योतिषाचर्यों ने बताया कि, इस बार उदया तिथि के आधार पर 19 सितंबर को गणेश चतुर्थी का व्रत रखा जाने वाला है। माना जाता है कि गणेश चतुर्थी के दिन चंद्रमा को नहीं देखना चाहिए, इससे श्राप लगता है। वहीं गणेश चतुर्थी के दिन भगवान गणेश की मूर्ति स्थापना शुभ मुहूर्त में ही करनी चाहिए।

हमारे ज्योतिषाचार्य ने बताया कि, आने वाले 19 सितंबर 2023 को भगवान गणेश का जन्मोत्सव मनाया जाएगा। हर साल भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थि तिथि को देशभर में गणेश चतुर्थी का पर्व उत्सव के रूप में बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया जाता है। इस दिन मंदिरों से लेकर घर-घर में भगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना की जाएगी और पूरे 10 दिनों तक बप्पा की अराधना के बाद शीघ्र आने की कामना के साथ उनका विसर्जन किया जाएगा।  19 सितंबर को गणेश जी की मूर्ति स्थापना की जाएगी और भगवान गणेश की विशेष पूजा-अराधना की जाएगी। भगवान गणेश जी की मूर्ति स्थापना एक विशेष विधि से की जाती है।

गणेश चतुर्थी 2023 तिथि 
ज्योतिषाचार्य ने बताया कि, (Ganesh Chaturthi 2023 Date) वैदिक पंचांग की गणना के मुताबिक, इस वर्ष भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि की शुरुआत 18 सितंबर 2023 को दोपहर 02:09 मिनट पर होगी. वहीं 19 सितंबर 2023 को दोपहर 03:13 मिनट पर चतुर्थी तिथि समाप्त हो जाएगी। ऐसे में उदय तिथि के आधार पर गणेश चतुर्थी और 10 दिनों तक चलने वाले गणेशोत्सव की शुरुआत 19 सितंबर को रहेगी।

भगवान गणेश की स्थापना करने का महत्व
ज्योतिषाचार्य ने बताया कि, (Ganesh Chaturthi 2023 Shubh Muhurat) भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि पर घर-घर भगवान गणेश की स्थापना करने का महत्व होता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार गणेश चतुर्थी तिथि पर शुभ मुहूर्त में भगवान गणेश की प्रतिमा को स्थापित करने पर जीवन में सुख-समृद्धि सहित सभी तरह के शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

Ganesh Chaturthi 2023 Shubh Muhurat
Ganesh Chaturthi 2023 Shubh Muhurat

गणेश चतुर्थी 2023 शुभ मुहूर्त
गणेश चतुर्थी पर भगवान गणेश की प्रतिमा को स्थापित करने के लिए शुभ मुहूर्त का विशेष ध्यान दिया जाता है।  19 सितंबर को प्रात: काल सूर्योदय से लेकर के दोपहर 12:53 बजे तक कन्या, तुला, वृश्चिक लग्न में भगवान गणेश की स्थापना करने का योग है। इस बीच मध्याह्न 11:36 से 12:24 बजे तक अभिजीत मुहूर्त में मूर्ति की स्थापना बहुत ही शुभ है।  इसके बाद दोपहर 13:45 बजे से 15:00 बजे तक भी शुभ मुहूर्त रहेगा।

गणेश विसर्जन तिथि
ज्योतिषाचार्य ने बताया कि, (Ganesh Visarjan 2023 Date) शास्त्रों के अनुसार गणेश चतुर्थी पर्व का समापन अनंत चतुर्दशी के दिन किया जाता है। साथ ही इसी दिन बप्पा को श्रद्धापूर्वक विदा किया जाता है। पंचांग के अनुसार गणेश विसर्जन गुरुवार 28 सितंबर 2023 को किया जाएगा।

गणेश चतुर्थी महत्व
ज्योतिषाचार्य ने बताया कि, (Ganesh Chaturthi 2023 Importance) हिंदू धर्म में भगवान गणेश को प्रथम पूज्य देवता और बुद्धि, सुख-समृद्धि और विवेक का दाता माना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार भगवान गणेश जी का जन्म भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि, स्वाति नक्षत्र और सिंह लग्न में दोपहर के प्रहर में हुआ था। ऐसे में गणेश चतुर्थी के दिन पर अगर आप घर पर भगवान गणेश की मूर्ति की स्थापना करने जा रहे हैं तो दोपहर के शुभ मुहूर्त में करना होता है।

गणेश चतुर्थी तिथि लेकर अनंत चतुर्दशी तक यानी लगातार 10 दिनों तक विधि-विधान के साथ गणेश जी की पूजा उपासना किया जाता है। माना जाता है कि भागवान गणेश जी की पूजा करने से जीवन में आने वाली सभी तरह की बाधाएं और संकट दूर हो जाते हैं और सुख-समृद्धि की प्राप्ति होती है। इसी लिए इन्हें विघ्नविनाशक भी कहा जाता है।

ये भी पढ़ें अगले 118 दिनों के लिए वक्री चाल चलेंगे देवगुरु बृहस्पति, जानिए Numerology के हिसाब से क्या पड़ेंगे प्रभाव

Tek Raj
संस्थापक, प्रजासत्ता डिजिटल मीडिया प्रजासत्ता पाठकों और शुभचिंतको के स्वैच्छिक सहयोग से हर उस मुद्दे को बिना पक्षपात के उठाने की कोशिश करता है, जो बेहद महत्वपूर्ण हैं और जिन्हें मुख्यधारा की मीडिया नज़रंदाज़ करती रही है। पिछलें 8 वर्षों से प्रजासत्ता डिजिटल मीडिया संस्थान ने लोगों के बीच में अपनी अलग छाप बनाने का काम किया है।

Latest News

Himachal News: ऊना के घालूवाल में 82 झुग्गियां जलकर हुई राख..!

Himachal News: ऊना जिला के उपमंडल हरोली के तहत...

Himachal Weather News: Heatwave Alert Issued, No Relief Until May 25

Himachal Weather News: Himachal Pradesh is bracing for a...

Himachal News: सीएम सुक्खू बोले, बड़सर में पकड़े गए 55 लाख रुपये बिकाऊ विधायकों के..

हमीरपुर। Himachal News : मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने...

Liquor Policy Case: शराब नीति मामले में मनीष सिसोदिया को झटका

Liquor Policy Case: दिल्ली शराब नीति मामले में मंगलवार...

Solan News: समाजसेवी ओम आर्य ने युवाओं को दी सीख,, नशे से दूर होकर खेलों में ध्यान लगाएं…

Solan News: कसौली विधानाभा के अंतर्गत जोधपुर में आयोजित...

More Articles

Parshuram Jayanti 2024: परशुराम जयंती का महत्व क्यों है, जानें तिथि और शुभ मुहूर्त..!

Parshuram Jayanti 2024: भगवान परशुराम ने ब्राह्मण ऋषि के घर में जन्म लिया था। सनातन धर्म में भगवान परशुराम को श्रृष्टि के पालनहार भगवान...

Manki Point Hanuman Temple Kasauli : संजीवनी बूटी लाते समय कसौली की इस ऊंची पहाड़ी पर टिका था हनुमानजी का दायां पांव

प्रजासत्ता| Manki Point Hanuman Temple Kasauli : प्राचीन समय से हिमाचल को देवताओं का स्थान "देवभूमि" के नाम से जाना जाता है। हिमालय पर्वत की...

Navratri 2024 Wishes in Hindi: इस नवरात्रि को बनाएं खास, अपनों को भेजें ये बधाई संदेश

Navratri 2024 Wishes in Hindi: चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि यानि 09 अप्रैल 2024 से हिंदू नव वर्ष की शुरुआत होने...

Famous Devi Temples Of Himachal: हिमाचल के लोकप्रिय देवी मंदिर, नवरात्रि के दौरान करें मां के इन प्रसिद्ध मंदिरों के दर्शन

Famous Devi Temple Of Himachal: कुछ दिनों बाद नवरात्रि ( Navratri 2024 ) की शुरुआत होने वाली है इस दौरान हिन्दू धर्म में  देवी...

Chaitra Navratri 2024: चैत्र नवरात्रि 2024 कब है? तिथि, शुभ मुहूर्त और महत्व

Chaitra Navratri 2024 Date: हिन्दू धर्म में चैत्र नवरात्रि पर्व को बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। प्रत्येक वर्ष दो नवरात्रि पर्व मनाएं जाते...

शिव की महिमा अपरंपार है.. आचार्य हेमंत भारती

कुनिहार | शिव तांडव गुफा कुनिहार के प्रांगण में आयोजित हो रही 11 दिवसीय महाशिव पुराण कथा के आज तीसरे दिन कथावाचक आचार्य हेमंत भारती...

Makar Sankranti 2024: मकर संक्रांति पर बन रहा 77 साल के बाद बहुत ही शुभ योग, सूर्यदेव का मिलेगा आशीर्वाद..!

Makar Sankranti 2024 Date Time And Shubh Yog: भारत में नए साल का प्रथम पर्व मकर संक्रांति ही माना जाता है। इस साल मकर...

Vastu Tips: जानिए! मकान की नींव में क्यों डाले जाते हैं कलश और चांदी से बना सांप?

Vastu Tips for Home: हिंदू पौराणिक मान्यताओं के अनुसार घर बनाते समय नींव में कलश या चांदी के नाग-नागिन बनवाकर डाले जाते हैं। मकान...

हल्दी के ये चमत्कारी टोटके: घर-परिवार की हर परेशानी को करेंगे दूर

Haldi Ke Totke: हमारे घर की रसोई में कुछ ऐसी चीजें होती है, जो सिर्फ खाने में स्वाद नहीं बढ़ाती है, बल्कि कुछ ज्योतिष...